हिजरी कैलेंडर – 1443, उर्दू कैलेंडर के अनुसार आज का इस्लामिक तारीख जानिए

मुस्लिम कैलेंडर की जानकारी चाहते हैं ?हिजरी कैलेंडर समझना चाहते हैं कि यह इस्लामिक कैलेंडर कैसे अंग्रेजी कैलेंडर से अलग होता है ? उसके साथ आप यह भी जानना चाहते हैं कि हिजरी कैलेंडर में किस महीने कौन सा त्यौहार है? किन-किन महीनों में हम मुसलमानों को रोजा रखना चाहिए?

अस्सलाम वालेकुम, अगर आप एक मुसलमान हैं तो आज आपको एहसास हो जाएगा कि हम एक सही इस्लामिक वेबसाइट पर पहुंच गये. बराय मेहरबानी इस पेज को नीचे तक scroll करके चेक कर लीजिए.हिजरी कैलेंडर

इस्लामी कैलेंडर 1443 रज्जबहर साल मुसलमानों के त्योहार तारीख क्यों बदल जाता है ? कृपया लेख को अंत पढ़िए। आज आपका कंसेप्ट क्लियर हो जाएगा।हिजरी कैलेंडर

आज उर्दू की कितनी तारीख है?

इस्लामिक कैलेंडर को हिजरी या इस्लामी पंचांग भी कहते हैं। यह कैलेंडर चाँद दिखाई देने के अनुसार तिथि तय होता है। हिजरी कैलेंडर का 1443वाँ साल चल रहा है। याद रखिएगा कि इस्लामिक कैलेंडर अंग्रेजी कैलेंडर से अलग होता है.

Aaj Chand Ki Tarikh Kitni Hai?

अभी इस्लामिक कैलेंडर के अनुसार कौन सा साल, महीना और तारीख है जानिए और Islamic Calendar Table 2022 नीचे है।

माह शाबान 1443 हिजरी का चाँद 🌙 नज़र आया गया है।

आज का इस्लामिक तिथि जानिए

05 मार्च 2022 को शाबान (1443) महीने की पहेली तारीख मुकर्रर हो पाया है। इस बात की घोषणा इमारत सरिया हिन्द और रूय्यते हिलाल कमेटी अजमेर ने कर दिया है। आपको बता दें कि शाबान महीने का चाँद पहले नहीं देखा गया। चाँद नहीं देखने की रवायत के मुताबिक रज्जब (सातवा महीना) महीना 30 दिनों का हुआ था. लिहाजा 30 रज्जब (1443) 04 मार्च 2022 को हुआ था.हिजरी कैलेंडर

05 मार्च 2022 को इस्लामिक तिथि 01.08.1443 है

 

शाबान 1443
1 शाबान05 मार्च
2 शाबान06 मार्च
3 शाबान07 मार्च
4 शाबान08 मार्च
5 शाबान09 मार्च
6 शाबान10 मार्च
7 शाबान 11 मार्च
8 शाबान12 मार्च
9 शाबान13 मार्च
10 शाबान14 मार्च
11 शाबान15 मार्च
12 शाबान16 मार्च
13 शाबान17 मार्च
14 शाबान18 मार्च
15 शाबान19 मार्च
16 शाबान 20 मार्च
17 शाबान21 मार्च
18 शाबान22 मार्च
19 शाबान23 मार्च
20 शाबान24 मार्च
21 शाबान25 मार्च
22 शाबान26 मार्च
23 शाबान27 मार्च
24 शाबान28 मार्च
25 शाबान29 मार्च
26 शाबान30 मार्च
27 शाबान 31 मार्च
28 शाबान01 अप्रैल
29 शाबान 02 अप्रैल
30 शाबान03 अप्रैल
31 शाबान04 अप्रैल

इस्लामिक तारीख का तिथि कैसे निर्धारित होता है?

यदि महीने के दिन 29 की शाम को सूर्यास्त के तुरंत बाद नया चाँद दिखाई देता है, तो अगले दिन नए महीने का शुरुआत हो जाती है। यदि नये चाँद देखे जाने की पुष्टि नहीं होने पर 30 के रवायत के अनुसार, उसके अगले दिन से हम नए महीने की शुरुआत होती है.

याद रखिए इस्लामिक महीना 29 या 30 दिनों का होता है. 30 तारीख की शाम को अगर चांद दिख जाए तो वह महिना 29 दिनों का होता है. चांद ना दिखे तो महीना 30 दिनों का होता है.

यही वजह है कि महीनों के आखिर में ही पता चलता है कि यह महीना जो चल रहा है वह 30 या 29 दिनों का है. आपको सतर्क करना चाहता हूं, इंटरनेट पर बहुत ऐसे वेबसाइट हैं जो कंप्यूटर के द्वारा जनरेट किए गए महीने की तारीख को दिखाते हैं.हिजरी कैलेंडर

जो सही या गलत भी हो सकता है. कुल्हैया.कॉम वेबसाइट आप लोगों को पटना के इमारत सरिया के द्वारा चांद देखे जाने की जो घोषणा करता है, उसी पर आधारित आपको इस्लामी कैलेंडर उपलब्ध कराता है.

हर महीने के चाँद देखे जाने के अनुसार यहाँ पर आपको अपडेट मिलेगा, समय-समय पर इस पेज पर विजिट करते रहे ताज़ातरीन इस्लामिक तिथियों के लिए।हिजरी कैलेंडर

हिजरी कैलेंडर को और कितने नामों से जाना जाता है?

हिजरी कैलेंडर को भारत में उर्दू कैलेंडर या मुस्लिम कैलेंडर भी कहते हैं। लेकिन यह एक इस्लामिक कैलेंडर है। यह कैलेंडर चांद के अनुसार तिथि बदलता है, इसीलिए इसे चंद्र-कालदर्शक भी कहते हैं।

1443 साल पहले, इस कैलेंडर का शुरुआत हज़रत मुह़म्मद सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम मदीना में हिज्ऱत (प्रवास) से शुरू हुआ था।

आखिरकार इस्लामिक कैलेंडर, अंग्रेजी कैलेंडर से अलग क्यों होता है?

अंग्रेजी कैलेंडर की शुरुआत 2021 साल पहले हुई थी। जबकि इस्लामिक कैलेंडर का शुरूआत 1443 साल पहले हुआ था।

अंग्रेजी कैलेंडर सूर्य के अनुसार अपने तिथियों को बदलता है। जबकि मुस्लिम कैलेंडर की तिथियां चाँद के अनुसार बदलता है।

अंग्रेजी कैलेंडर मैं 365 दिन होते हैं। जबकि इस्लामिक कैलेंडर में 354 या 355 दिन ही होते हैं। यानी कि दोनों कैलेंडरों के बीच में 10 से 11 दिनों का प्रत्येक वर्ष फर्क आ जाता है।हिजरी कैलेंडर

हर साल हम मुसलमानों के त्योहारों का तारीख क्यों बदल जाता है?

जी हां, प्रत्येक वर्ष मुसलमानों के त्योहारों का तारीख बदल जाता है। आप कभी-कभी यह सोचते होंगे कि यह कैसे मुमकिन है।

दोनों कैलेंडरों के बीच में 10 से 11 दिनों का प्रत्येक वर्ष फर्क होता है। जिस कारण अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार मुसलमानों का त्योहार प्रत्येक वर्ष 10 से 11 दिन पहले आ जाता है।

अगर आप भूगोल विद्या का उपयोग करेंगे तो आपको साफ पता चलेगा कि चांद एवं सूर्य का गति में अंतर होता है। चाँद प्रत्येक वर्ष 10 से 11 दिन पहले अपना चक्र पूरा कर लेता है। इसी कारण मुस्लिम त्योहारों का तारीख हर साल बदल जाता है।

जैसे कि आप जानते हैं 1 मई 2018 को शब-ए-बरात मनाया गया था। 2019 में शब-ए-बरात 20 या 21 अप्रैल को होगा। इस तरह घटते-घटते 32 सालों के बाद यानी 2050 में पुनः शबे बरात 1 मई को होगा।

आप कह सकते हैं कि मुस्लिम भाइयों का त्यौहार साल के हर मौसम में होना मुमकिन है। क्योंकि यह चक्र 32 सालों में एक बार पूरा हो जाता है। जबकि अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार क्रिसमस का त्योहार हर साल एक मौसम में होता है।

उर्दू कैलेंडर 2021 में, कौन सा इस्लामिक साल चल रहा है?

उर्दू कैलेंडर का 1443 वर्ष चल रहा है। जबकि अंग्रेजी कैलेंडर में 2021 चल रहा है। दोनों कैलेंडरों के बीच में 578 सालों का अंतर है। आप कभी सोचते होंगे कि इस कैलेंडर का नया साल कब होता है। इस कैलेंडर का पहला महीना का नाम मुहरम है।

इस्लामिक नया साल (1443) कब है?

  1. 2018 – 12 सितंबर – 1440
  2. 2019 – 31 अगस्त – 1441
  3. 2020 – 26 अगस्त – 1442
  4. 2021 – 11 अगस्त – 1443

हर मुसलमान को साल के 12 महीने का संक्षिप्त इतिहास को जानना चाहिए ताकि वह बेहतर इबादत कर सकें

आपने कभी भी सोचा नहीं होगा कि हिजरी कैलेंडर के कितने फायदे हैं. शायद आप पहले से ही जानते होंगे कि हिजरी कैलेंडर चांद पर आधारित है. चांद को पृथ्वी का परिक्रमा करने में 29 से 30 दिनों के बीच का समय लगता है. यही कारण है कि अंग्रेजी कैलेंडर से 10 से 11 दिन छोटा होता है.

इस्लामिक कैलेंडर में 354-355 दिनों 1 साल होता है. हमारी कल्पना से बाहर है कि इस कैलेंडर को इस तरह से डिजाइन किया गया है कि आपको जीवन काल में हर मौसम में ईद जैसे त्यौहार मनाने का मौका मिलेगा.

इसलिए, लोग विभिन्न जलवायु परिस्थितियों में और अलग-अलग घंटों में अल्लाह ताला को खुश करने के लिए बात करने का मौका मिलता है.हिजरी कैलेंडर

हिजरी कैलेंडर

मेरे हिसाब से आपको इस्लामिक कैलेंडर के 12 महीने के बारे में विस्तृत ढंग से जान लेना चाहिए. जैसे आप यह जानेंगे कि इस्लाम के चार महत्वपूर्ण मैंने कौन से हैं. किन-किन महीने में रोजा रखना चाहिए.

दोस्तों अगर आपको इस्लामिक तारीख को लेकर कोई भी सवाल हो या कही पर आपको समझ नहीं आई हो तो आप हमसे निचे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है जिसका जवाब आपको मात्र 5 मिनट में दिया जायेगा | अगर आपको यकीं नहीं है तो निचे कमेंट करके देखिये फिर देखिये जादू|हिजरी कैलेंडर

Releted Post 

बिहार राशन कार्ड ऑनलाइन 2022: Download Ration Card Form Online

Bihar Parichari Sahayak Vacancy 2022- बिहार परिचारी सहायक बहाली 2022 जानें आवेदन प्रक्रिया

Bihar Parichari Sahayak Vacancy 2022- बिहार परिचारी सहायक बहाली 2022 जानें आवेदन प्रक्रिया

ararianews.in

 

Leave a Comment

Severe thunderstorm warnings across SE Michigan expire Lawyers for Alex Jones turned over evidence that contradicted U.S. Rep Jackie Walorski, three others killed in Elkhart County crash Pelosi expected to visit Taiwan, Taiwanese and US officials say Deshaun Watson Suspended Six Games by the N.F.L.